तपस्या 08वें दिन जारी रहा

ब्रह्मचारी आत्मबोधानन्द की तपस्या का 8वां दिन है। आज गंगा रक्षा के इस पावन कार्य में ग्राम जगजीतपुर के वासिन्दे दिन भर आते रहे। लगभग 100 से ज्यादा लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई और इस तपस्या के सफल होने की कामना की। इसके अलावा भारतीय किसान यूनियन, जगजीतपुर ग्राम बचाओ संघर्ष समीति एवं जनसंघर्ष मोर्चा के दर्जनों पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने भी मातृ सदन आकर लिखित में इस तपस्या को अपना समर्थन प्रदान किया।
दूसरी तरफ खनन व स्टोन क्रेशर माफियाओं का प्रशासन एवं स्थानीय पुलिसकर्मी के साथ अनोखा गठजोड़ सामने आया है। शाहपुर शीतला खेड़ा स्थित एक स्टोन क्रेशर के द्वारा 30×20 मीटर की खेती की भूमि को मशीनों से खोदकर 15 फुट गड्ढ़ा बना दिया गया है और उस समय भी लोडर से अवैध खनन कर माल स्टोन क्रेशर पर ले जाया जा रहा था जिसका प्रमाण विडियो रिकार्डिंग बनाने हेतु उसी गाँव का एक युवा गया तो स्टोन क्रेशर वालों ने उसे पकड़कर उसके साथ हाथापाई कर दी उल्टा पुलिस बुला लिया और उसका मौबाईल छीनकर उस विडियो को हटा दिया और पुलिस के सामने धमकी दी कि कोई उसके काम नहीं आयेगा। युवक ने इसकी शिकायत श्रीमान मुख्य सचिव, श्रीमान पुलिस महानिदेशक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से की है। इस पत्र में इस युवक ने खनन से हो रहे अपूरणीय क्षति का जिक्र अपनी ही भाषा में साफ व स्पष्ट रूप से किया है। इस घटना में एक दारोगा संग तीन पुलिस कर्मियों के नाम आ रहे हैं जो इस प्रकार हैः- अमित रावत, विनोद और राठी, ये तीनों भिक्कमपुर चैकी पर तैनात बताये जा रहे हैं। इन तीनों ने अपने सामने अवैध खनन होते हुए भी उसके विरुद्ध कार्यवाही करने की बजाये स्टोन क्रेशर मालिकों से कृत्य कृत्य होकर उसके गैरकानूनी कार्यों को प्रश्रय दिया।
ऐसी ही एक दूसरी घटना भी सामने आई है। ग्राम भोगपुर का एक किसान का खेत दुर्गा स्टोन क्रेशर से सटे एक खेत से लगा हुआ है। स्टोन क्रेशर से लगे उक्त खेत में राजेन्द्र ने उक्त सटे हुए खेत में 25-30 फीट गहरा गड्ढ़ा कर दिया जिसके कारण बरसात में उक्त किसान का खेत किनारों से धँसना शुरु हो गया। उक्त किसान ने मातृ सदन को बताया कि वह कई बार जिलाधिकारी व अन्य अधिकारी से इसकी लिखित शिकायत कर चुका है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती है। उल्टे खनन करने वाले लोग उसको धमकी देते हैं कि उसके परिवार के लिये ये सब अच्छा नहीं होगा। किसान ने मातृ सदन से अपने खेत को खनन से बचाने का निवेदन लिखित में किया है। कुल मिलाकर यहाँ के जिलधिकारी श्री दीपक रावत और उपजिलाधिकारी श्री मनीष कुमार सिंह माफियाओं के अवैध हित साधने में जोरदार ढंग से लगे हैं। यही कारण है कि बारम्बार प्रमाण के साथ शिकायत के बाद भी अवैधरूप से चल रहे इन स्टोन क्रेशरों को सीज नहीं किया गया है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s