Struggle for increasining Kumbh area in Haridwar Today is 33rd day


विषय मातृ सदन हरिद्वार के दिवंगत संत निगमानंद के गुरु स्वामी शिवानन्द के अनशन का ३२ वाँ दिवस | जीवन खतरे में

महोदय,
शहीद संत निगमानंद के गुरु का जीवन खतरे में है ६ अगस्त २०१२ से जारी लगातर अनशन का आज ३२ वा दिवस हे | उनकी जान को गम्भीर खतरा हो गया है |
प्रदेश सरकार से उनकी मांग हरिद्वार में कुंभ क्षेत्र की सीमा को बढवाने के लिए है इसी कुंभ क्षेत्र को खनन माफियाओं से बचाने के लिए स्वामी निगमानंद की अनशन के दौरान हत्या हुई थी|

कुंभ २०१० में हरिद्वार में भारी भीड़ और जगह की कमी की वजह से अनेक मासूमों की बिरला पुल से गंगा में गिरने से मृत्यु हो गयी थी | १९८६ के कुंभ में भी ऐसा हुआ था | इसलिए २०१० कुंभ मेला समाप्ति उपरांत मेला अधिकारी ने शासन को कुंभ क्षेत्र को दुगुना करने की संस्तुति कर दी थी | गंगा में अवैध खनन माफियाओं के दबाव मे हरिद्वार प्रशासन ने इस संस्तुति को दबा कर रख दिया था | मातृ सदन के पत्रों पर कार्यवाही न होने एवं गंगा में लगातार अवैध खान से कुंभ क्षेत्र के बर्बाद होने के कारणों से स्वामी शिवानंद ने ६ अगस्त से अनशन शुरू कर दिया हैं |
प्रदेश सरकार ने अभी तक कोई सुध नहीं ली है |
२७ अगस्त को हरिद्वार डी ऍम के आदेश से सैंकड़ो पुलिसवालों ने आश्रम में अनाधिकृत प्रवेश कर स्वामी शिवानंद के कमरे की लोहे की ग्रिल को काटने का प्रयास किया |
स्वामी निगमानंद की हत्या में हरिद्वार डीएम श्री सचिन कुर्वे की भी सी बी आई दवारा जाँच भी हुई है क्योंकि श्री सचिन कुर्वे तत्कालीन डी ऍम देहरादून थे और इनके ही आदेश से ही स्वामी निगमानंद को दून हस्पताल से हिमालयन इंस्टिट्यूट जौली ग्रांट हस्पताल की एमरजेंसी में लावारिस हालत में छोड़ दिया गया था |
इन्ही डी एम दवारा अब अफवाह फैलाई जा रही हे कि स्वामी शिवानंद जी का अनशन समाप्त हो गया है |
खनन माफियाओं की लॉबी इतनी ताकतवर हे के उसने सी बी आई एवं न्यायालय को भी अपने प्रभाव में ले लिया है |
स्वामी शिवानंद की अन्य मांगों को सी बी आई सुप्रीम कोर्ट एवं हाई कोर्ट ने संज्ञान में लिया है और निराकरण करने की तैयारी में है परन्तु प्रदेश सरकार चुप हे |

कल दिनांक ६ अगस्त को उत्तराखण्ड सी एम श्री विजय बहुगुणा ने आश्वासन दिया है| श्री दिग्विजय सिंह भी चिन्तित हैं| श्री रेवती रमण, बाबा रामदेव ने भी आश्रम में आकर समर्थन दिया

स्वामी शिवानंद अपने संकल्प पर पूर्व की भांति अडिग होकर शरीर त्याग करने को तत्पर
है | उन्होंने अपने आप को कमरे में बंद कर लिया है और मेडिकल परिक्षण भी करवाने से इंकार कर दिया है |
इस बात की पूरी आशंका है की खनन माफिया सी बी आई जाँच को खत्म करने के लिये स्वामी शिवानंद जी की भी हत्या करवा देगा |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s