सेवा में
महामहिम राज्यपाल
उत्तराखंड
दिनांक: ११/०८/२०१२
विषय: ‘आपके हरिद्वार नक्षत्र वाटिका में वृक्षारोपण एवं मातृ सदन के शहीद स्वामी निगमानंद के गुरु स्वामी शिवानंद के अनशन के सम्बन्ध में’
आदरणीय,
पर्यावरण एवं गंगा को बचाने हेतु कल दिनांक १२/०८/२०१२ को आपके द्वारा दक्ष मंदिर के सामने गंगा द्वीप पर वृक्षारोपण हेतु हरिद्वार नागरिक परिषद आपका स्वागत एवं अभिनन्दन करती है.

आज मातृ सदन के संस्थापक स्वामी शिवानंद जी के अनशन का छठा दिवस है. जिस भूमि पर आप वृक्षारोपण करने जा रहे है उस भूमि को मातृ सदन द्वारा वन एवं खनन माफियाओं से वर्ष २००१ में बचाया गया है. १६२५ बीघे जमीन जो भ्रष्ट
वन अधिकारियों के द्वारा माफियाओं को हस्तांतरित कर दी गयी थी उसको मातृ सदन ने हाई कोर्ट द्वारा पुनः सरकार को सौंपा एवं इस क्षेत्र को १२ वर्षों के लगातार सत्याग्रह एवं तपस्या से खनन मुक्त करा कर गंगा,पर्यावरण एवं कुम्भ क्षेत्र को बचाया.

मातृ सदन के इस अथक संघर्ष में स्वामी निगमानंद की ६८ दिन के अनशन उपरान्त अस्पताल में जहर दे कर हत्या की गयी जिसकी जाँच में उच्चपद आसीन एवं रसूख वाले व्यक्तियों द्वारा सी बी आई जाँच को प्रभावित किया गया क्योकि स्वामी निगमानंद जी का अनशन हाई कोर्ट के उन दो जजो के भ्रष्टचार के विरोध में था जिनकी गंगा में खनन माफियाओ से सांठ गांठ थी.

आज स्वामी शिवानंद जी के अनशन का छठा दिवस है जिनकी पांच मांगों में एक उत्तराखंड सरकार से कुम्भ क्षेत्र को दुगुना करने की है. जिस की गत कुम्भ मेला २०१० के अधिकारियों द्वारा संस्तुत्ति कर दी गयी है.

अन्य मांगों में सी बी आई की दुबारा जाँच तथा ऑफिसर एवं एक मजिस्ट्रेट के विरुद्ध जाँच एवं सजा है.

मुझे आशंका है कि ओफिशियल माफिया गठजोड़ द्वारा मातृ सदन को नष्ट करने के उद्देश्य से अनशनरत स्वामी शिवानंद जी की हत्या भी की जा सकती है.

कृपया उपरोक्त विषय को संज्ञान में लेकर तथ्यों कि सत्यपरकता की जाँच कर ले.

एवं आप के अधिकारियों से आशा है कि इस पत्र को त्वरित गति से संज्ञान में लेकर आपको सूचित करे क्योकि मेरे पूर्व अनुभव अनुसार भारत की भ्रष्ट संस्कृति के पदाधिकारी सत्य को प्रकट नहीं होने देते. यही कारण रहा कि गंगापुत्र स्वामी निगमानंद की हत्या हुई.

भवदीय
डा विजय वर्मा
अध्यक्ष

Advertisements

One thought on “

  1. JAB HAMAARI SARKAAREIN HI HINDU DROHI HO GAI HAIN TO UNNHE UKHAAD PHEKNAA PARAM AAWASHYAK HAI .
    JO APNI SANSKRITI , DHARM , SAMAAJ , SAINTS , MAHATMAAON KI RAKSHA NAHI KAR SAKE ….AISEE GOVT. ” PRADOOSAN ” SE JYAADA AUR KUCHH NAHI HAI .

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s